Dus, Viral और ऐसी ही कुछ फिल्में जो कभी हो नहीं पायी रिलीज़, जानने के आगे पढ़ें…

Dus, Viral और ऐसी ही कुछ फिल्में जो कभी हो नहीं पायी रिलीज़। दोस्तों भारतीय सिनेमा विश्व के सबसे बड़े सिनेमाज़ में से एक माना जाता है और इसमें कोई दो राहें नहीं हैं। भारत …

Dus, Viral और ऐसी ही कुछ फिल्में जो कभी हो नहीं पायी रिलीज़।

दोस्तों भारतीय सिनेमा विश्व के सबसे बड़े सिनेमाज़ में से एक माना जाता है और इसमें कोई दो राहें नहीं हैं। भारत में हर साल हज़ार से भी ज़्यादा फ़िल्में थिएटर में रिलीज़ की जाती हैं और अब ओटीटी के आ जाने से ये आंकड़े और भी बढ़ गये हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं की कुछ ऐसी फिल्में भी होती हैं जो बनना शुरू तो हो जाती हैं, लेकिन कभी पूरी नहीं हो पाती या पूरी होने पर भी रिलीज़ नहीं हो पाती।आज हम आपको कुछ ऐसी ही फिल्मों के बारे में बताने जा रहे हैं जो कभी पूरी हो ही नहीं पायी, या पूरी हो भी गयीं तो भी कभी रिलीज़ नहीं हो पायीं।

दस (Dus)

संजय दत्त, सलमान खान, रवीना टंडन और शिल्पा शेट्टी अभिनीत दस निश्चित रूप से डायरेक्टर मुकुल आनंद का ड्रीम प्रोजेक्ट था। अफ़सोस निर्देशक के दुखद निधन के कारण फ़िल्म कभी पूरी नहीं हो पाई। फिल्म की कहानी भारतीय एजेंट संजय दत्त और सलमान खान पर आधारित थी, जो चौथे भारत-पाक युद्ध को रोकने के लिए अंडरकवर पाकिस्तान में जाते हैं। Dus एक टेक्नो-गीक, मुकुल आनंद लार्जर देन लाइफ फिल्म थी। फिल्म को यूटा में भव्य रूप से फिल्माया गया था। हालाँकि, उनकी अचानक मृत्यु से फिल्म कभी भी रिलीज़ नहीं हो पायी।

तलिस्मान (Taalismaan)

1888 की मशहूर नावेल चंद्रकांता पर भारतीय फिल्म निर्माता विधु विनोद चोपड़ा ने एक फिल्म बनाने की कोशिश की थी, जिसे राम माधवानी द्वारा निर्देशित किया जाना था। फिल्म का नाम तलिस्मान रखा गया था और इसमें अय्यार की भूमिका निभाते हुए कलाकारों में अमिताभ बच्चन भी शामिल थे। चंद्रकांता की कहानी के इस स्क्रीन रूपांतरण में अभिषेक बच्चन भी नजर आने वाले थे।

यहाँ तक की इस फिल्म के मेकर्स ने फिल्म को अनाउंस करते हुए एक ट्रेलर भी रिलीज़ किया था, जिसमे अमिताभ बच्चन को एक अय्यार के रूप में दिखाया गया था। लेकिन फिल्म बीच में ही रोक दी गयी और कभी नहीं बन पायी।

टाइम मशीन (Time Machine)

Time Machine एक अधूरी बॉलीवुड साइंस-फिक्शन Time Travel फिल्म है, जो 1992 में बन रही थी और इसका निर्देशन शेखर कपूर ने किया था। फिल्म Time Machine के कलाकारों में आमिर खान, रेखा, नसीरुद्दीन शाह, रवीना टंडन, गुलशन ग्रोवर और विजय आनंद शामिल थे। फिल्म की तीन-चौथाई शूटिंग पूरी होने के बाद पैसों की कमी के कारण इसे रोक दिया गया। 2008 में, शेखर कपूर ने घोषणा की कि वह नए कलाकारों के साथ फिल्म को दोबारा बनाने की कोशिश करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका।

कहा जाता है कि यह फ़िल्म हॉलीवुड की हिट Time Travel फ़िल्म बैक टू द फ़्यूचर पर आधारित थी। आमिर खान को मुख्य किरदार निभाना था, जो 1990 से 1960 के दशक में वापस जाता है और अपने माता-पिता (नसीरुद्दीन शाह और रेखा) के एक दुसरे से मिलने से पहले उनसे मिलता है। विजय आनंद को Time Machine का आविष्कार करने वाले साइंटिस्ट के रूप में चुना गया था। रवीना टंडन को आमिर खान की प्रेमिका के रूप में चुना गया था। गुलशन ग्रोवर और अमरीश पुरी को अन्य भूमिकाओं में लिया गया था। ये भी कहा जाता है कि एच.जी. वेल्स की नावेल The Time Machine भी फिल्म के लिए प्रभावशाली थी।

मरुदनायगम (Marudhanayagam)

मरुदनायगम एक अधूरी भारतीय ऐतिहासिक ड्रामा फिल्म थी, जिसे निर्देशित और प्रोड्यूस कमल हासन ने अपने राज कमल फिल्म्स इंटरनेशनल बैनर में किया था। फिल्म का स्क्रीनप्ले कमल हासन ने नॉवेलिस्ट सुजाता के साथ मिलकर लिखा था और दोनों ने 1991 के अंत में इस फिल्म पर काम शुरू किया था। 1997 के में एक शूट के बाद, फिल्म को आधिकारिक तौर पर एमजीआर फिल्म सिटी, चेन्नई में आयोजित एक समारोह में लॉन्च किया गया था।

उस समय भारत में बनने वाली सबसे महंगी फिल्म मानी जाने वाली इस फिल्म का बजट 80 करोड़ था। फिल्म ने मूल रूप से अपने मुख्य कलाकारों के रूप में भारतीय सिनेमा के कई प्रमुख नामों को एक साथ खींचा था, जिनमें विष्णुवर्धन, अमरीश पुरी और नसीरुद्दीन शाह शामिल थे। फिल्म का संगीत इलैयाराजा ने तैयार किया था और सिनेमाटोग्राफी रवि के. चंद्रन संभाल रहे थे।

1997 में इसकी शूटिंग शुरू होने के बावजूद, फिल्म को कई निर्माण समस्याओं से गुजरना पड़ा और आखिकार एक अंतरराष्ट्रीय कंपनी, जो फिल्म में सह-निर्माता थी, पीछे हट गई। इसके बाद भी फिल्म के प्रोडूसर और डायरेक्टर कमल हासन ने फिल्म को दोबारा बनाने की कई कोशिशें की पर वे सभी नाकाम रहीं।

फायर्ड (Fired)

Fired 2010 की भारतीय हिंदी भाषा की हॉरर फिल्म थी, जिसमें राहुल बोस और मिलिट्ज़ा रेडमिलोविक ने अभिनय किया था। यह निर्देशक सजीत वरियर की पहली फीचर फिल्म थी और इसका प्रीमियर 12 मई 2010 को कान्स मार्चे डु फिल्म में किया गया था। लेकिन फिल्म  के काफी बोल्ड होने के कारण न तो फिल्म को कभी थिएटर में रिलीज़ किया गया और फिल्म को कभी टीवी पर चलाया गया।

Fired एक सीईओ के जीवन के अंतिम दो घंटों के वास्तविक समय को दिखाती है, जिसने हाल ही में अपने लगभग आधे कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है, यह एक खाली ऑफिस में स्थित है, जो फिल्म में काफी बड़ी भूमिका निभाता है, और जो फिल्म के रहस्य को बढ़ाता है। इस फिल्म में राहुल बोस, मिलिट्ज़ा रेडमिलोविक, दिनेश लांबा, नसीर अब्दुल्ला मुख्य भुमका में हैं।

वायरल (Viral)

Viral एक भारतीय बॉलीवुड 2016 की सोशल मीडिया पर आधारित फिल्म थी, जो राज नादार द्वारा निर्देशित और आनंद कुमार प्रोडक्शंस बैनर के तहत आनंद कुमार और एंडेमोल इंडिया द्वारा प्रोड्यूस की गयी थी। Viral की फोटोग्राफी फरवरी 2016 में शुरू कर दी गयी थी।

Viral फिल्म में मंदाना करीमी और राघव जुयाल, को मुख्य भूमिका में कास्ट किया गया था। फिल्म का फर्स्ट लुक 3 जनवरी 2015 को जारी किया गया था। यह फिल्म एक ऐन्थोलोजी फिल्म थी जिसमे दिखाया गया था कि किस तरह टेक्नोलॉजी और सोशल मीडिया ने लोगों के जीवन को पूरी तरह से बदल कर रख दिया है।

होटल ब्यूटीफुल (Hotel Beautifool)

होटल ब्यूटीफ़ूल एक मशहूर हिंदी नाटक बात-बात में बिगड़े हालात पर आधारित था, जिसे समीर इकबाल पटेल ने लिखा और निर्देशित किया था। समीर कुछ समय से इस पर एक फिल्म बनाने की योजना बना रहे थे, जब मोहम्मद असलम शेख और मधिरे रविंदर रेड्डी ने नाटक देखा तो इसे हिंदी फीचर फिल्म बनाने में पटेल के साथ जुड़ने का फैसला किया।

ये भी पढ़ें – YRF Spy Universe, KGF Universe और ऐसे ही कई और यूनिवर्स के बारे में जानें।

Leave a comment